E-Mail : info@akhilbhartiyakshatriyasamaj.com
Image Slider
"बिटिया के लिए वर और घर के लिए गृह-वधु "
अधिक जानकारी के लिए संपर्क करे ! प्रभुनाथ सिंह (९०५१९१७१४१)
कार्यालय का पता :-
5,नीमतल्ला घाट स्ट्रीट (दमकल गली) कोलकाता- 700006
Welcome to Akhil Bharatiya Kshatrya Samaj
🚩 🚩 🚩 It is very happy to inform that as every year, on behalf of the Central Government and State ′′ All India Kshatriya Samaj ′′ to serve the pilgrims coming to the ′′ Gangasagar Mela ′′ organized on the occasion of the auspicious day of Poush Sankanti this year as well. Gangasagar Pilgrims Seva Camp - has been arranged in accordance with the government's Covid rules. The camp will be inaugurated on Monday, January 11, 2021 It will continue till Friday, January 15th. All pilgrims are cordially invited. . Register your names to the responsible representatives of your own branch to join this camp or contact the admins of this group. Thank you. 🚩 🚩 🚩
 
शूरवीर क्षत्रियों महान सत्य अवश्य पढ़िये "
  • 1. जयमाल मेड़तिया ने एक ही झटके में हाथी का सिर काट डाला था.
  • 2. करौली के जादोन राजा अपने सिंहासन पर बैठते वक़्त अपने दोनो हाथ जिन्दा शेरो पर रखते थे.
  • 3. जोधपुर के यशवंत सिंह के 12 साल के पुत्र पृथ्वी सिंह ने हाथो से औरंगजेब के खूंखार भूखे जंगली शेर का जबड़ा फाड़ डाला था.
  • 4. राणा सांगा के शरीर पर छोटे-बड़े 80 घाव थे,युद्धों में घायल होने के कारण उनके एक हाथ नही था एक पैर नही था, एक आँख नहीं थी उन्होंने अपने जीवन-काल में 100 से भी अधिक युद्ध लड़े थे.
  • 5. एक राजपूत वीर जुंझार जो मुगलो से लड़ते वक़्त शीश कटने के बाद भी घंटो लड़ते रहे आज उनका सिर बाड़मेर में है, जहा छोटा मंदिर हैं और धड़ पाकिस्तान में है !
  • 6. रायमलोत कल्ला का धड़ शीश कटने के बाद लड़ता-लड़ता घोड़े पर पत्नी रानी के पास पहुच गया था तब रानी ने गंगाजल के छींटे डाले तब धड़ शांत हुआ उसके बाद रानी पति कि चिता पर बैठकर सती हो गयी थी.
  • 7. चित्तोड़ में अकबर से हुए युद्ध में जयमाल राठौड़ पैर जख्मी होने कि वजह से
  • कल्ला जी के कंधे पर बैठ कर युद्ध लड़े थे, ये देखकर सभी युद्ध-रत साथियों को चतुर्भुज भगवान की याद आयी थी, जंग में दोनों के सर काटने के बाद भी धड़
  • लड़ते रहे और राजपूतो की फौज ने दुश्मन को मार गिराया अंत में अकबर ने उनकी वीरता से प्रभावित हो कर जैमल और पत्ता जी की मुर्तिया आगरा के
  • किलें में लगवायी थी.
  • 8. राजस्थान पाली में आउवा के ठाकुर खुशाल सिंह 1877 में अजमेर जा कर अंग्रेज अफसर का सर काट कर ले आये थे और उसका सर अपने किले के बाहर लटकाया था तब से आज दिन तक उनकी याद में मेला लगता है.
  • 9. महाराणा प्रताप के भाले का वजन 80 किलो था और कवच का वजन 80
  • किलो था और कवच, भाला, ढाल, और हाथ मे तलवार का वजन मिलाये तो 207 किलो था.
  • 10. सलूम्बर के नवविवाहित रावत रतन सिंह चुण्डावत जी ने युद्ध जाते समय मोह-वश अपनी पत्नी हाड़ा रानी की कोई निशानी मांगी तो रानी ने सोचा ठाकुर युद्ध में मेरे मोह के कारण नही लड़ेंगे तब रानी ने निशानी के तौर पैर अपना सर काट के दे दिया था, अपनी पत्नी का कटा शीश गले में लटका औरंगजेब की सेना के साथ भयंकर युद्ध किया और वीरता पूर्वक लड़ते हुए अपनी मातृ भूमि के लिए शहीद
  • हो गये थे.
  • 11. हल्दी घाटी की लड़ाई में मेवाड़ से 20000 सैनिक थे और अकबर की और से 85000 सैनिक थे फिर भी अकबर की मुगल सेना पर राजपूत भारी पड़े थे.
  • घन्य थे वो राजपुत.....!!
Photo Gallery
See Gallery
vandematram
                    
!! ॐ शांति - श्रद्धांजलि !!
अखिल भारतीय क्षत्रिय समाज के महासचिव शंकर बक्श सिंह की धर्मपत्नी 57 वर्षीया स्वर्गीय आशा देवी का आज अकस्मात् निधन हो गया है ! अखिल भारतीय क्षत्रिय समाज के संरक्षक जय प्रकाश सिंह ने शोक व्यक्त करते हुए कहा कि स्वर्गीय आशा देवी घरेलु महिला होने के बावजूद समाज के कार्यक्रमों में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेती थी ! भगवान् उनकी आत्मा को शांति दे और शंकर बक्श सिंह के परिवार को कभी ना पूर्ण होने वाली इस क्षति को सहने की शक्ति दे !
"बिटिया के लिए वर और घर के लिए गृह-वधु "
अखिल भारतीय क्षत्रिय समाज के तत्वधान में एक क्षत्रिय समाज का कार्यकर्म चलता है जिसका नाम "बिटिया के लिए वर और घर के लिए गृह-वधु " इस कार्यकर्म का मकसद क्षत्रिय समाज के परिवारो को मिलाना है !आप भी हमारे इस कार्यकर्म में जुड़ सकते है !हमारा संपर्क सूत्र है : अखिल भारतीय क्षत्रिय समाज प्रभुनाथ सिंह (९०५१९१७१४१)
Home | Photo Gallery | Video Gallery | Contact Us
Copyright © 2021 Akhil Bharatiya Kshatrya Samaj